आर्थिक संकट से बढ़ी खुदकुशी ! लॉकडाउन के दौरान सूरत में ७०० लोगों ने दी जान

कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया की तस्वीर बदलकर रख दी है। आर्थिक परेशानियों के बीच बढ़ती बेरोजगारी ने लोगों को गलत कदम उठाने पर मजबूर कर दिया है। सूरत में लॉकडाउन के बाद से आत्महत्या के मामले बढ़ गए। एक अनुमान के अनुसार रोजाना औसतन ४ लोग खुदकुशी कर रहे हैं। २५ मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन से लेकर अब तक यानी १६० दिन में ७०० से अधिक लोग आत्महत्या कर चुके हैं, जिसमें से ३२० लोग बेकारी, आर्थिक संकट या फिर नौकरी छूटने से अपनी जान दे चुके हैं। इसी…