१२ घंटे में २ बार कांपी धरती, नाशिक और उत्तरी मुंबई में भूकंप के झटके !

मुंबई के पास शनिवार सुबह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र मुंबई से ९८ किलोमीटर उत्तर में था। रिएक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता २.७ मापी गई है। उधर, एक दिन पहले यानी शुक्रवार देर रात करीब १२ बजे नासिक से करीब ९८ किमी पश्चिम में भी भूकंप आया। हालांकि इस दौरान किसी भी नुकसान की सूचना नहीं है।
मुंबई के पास शनिवार करीब सुबह सात बजे भूकंप आया। इस दौरान दौरान कुछ लोग घरों से बाहर निकल गए। हालांकि भूकंप की तीव्रता कम होने के चलते ज्यादा लोगों को भूकंप के झटके महससू भी नहीं हुए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, भूकंप की तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर २.७ मापी गई है। उधर, एक दिन पहले यानी शुक्रवार देर रात करीब १२ बजे नासिक से करीब ९८ किमी पश्चिम में भी भूकंप आया।
शुक्रवार को भी आया था भूकंप
नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (र्‍ण्ए) के अनुसार, मुंबई में शुक्रवार सुबह १०:३३ बजे भी भूकंप आया था। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता २.८ मापी गई थी। बताया गया कि भूकंप का केंद्र मुंबई से ९१ किलोमीटर उत्तर में १० किलोमीटर की गहराई में था। इसमें किसी भी नुकसान की सूचना नहीं है। पालघर में भूकंप के झटके की तीव्रता २.५ मापी गई।
इतनी तीव्रता का भूकंप होता है खतरनाक
जानकारी के मुताबिक, अभी तक भूकंप की तीव्रता की अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है। हालांकि रिक्टर स्केल पर ७.० या उससे अधिक की तीव्रता वाले भूकंप को सामान्य से कहीं अधिक खतरनाक माना जाता है। इसी पैमाने पर २.० या इससे कम तीव्रता वाला भूकंप सूक्ष्म भूकंप कहलाता हैं, जो सामान्यतः महसूस नहीं होते। ४.५ की तीव्रता वाले भूकंप घरों को क्षतिग्रस्त कर सकते हैं।

Related posts

Leave a Comment